रैगिंग मामले समीक्षा के बाद मेडिकल कॉलेज में 33 छात्रों पर जुर्माना, मचा हड़कंप

0
14

संजीव मिश्रा, भागलपुर

लगातार हो रहे हो हंगामे के बाद आखिरकार कल देर शाम एन्टी रैगिंग की जांच रिपोर्ट कॉलेज के प्राचार्य अर्जुन कुमार सिंह को शॉप दी गयी है। इसके तुरंत बाद जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज काउंसिल ने रैगिंग करने वाले 33 छात्रों पर 25/25 हजार रुपये जुर्माना लगाया है। दोषी छात्रों को 30 नवंबर तक जुर्माना चुकाना ही होगा । यह भी कहा कि जो छात्र तय समय में जुर्माना नहीं दे पाएंगे, उन्हें क्लास में किसी भी स्थिति में बैठने नहीं दिया जाएगा । सारी राशि स्टूडेंट फंड में जमा होगी, जिसकी सूचना बिहार सरकार और एमसीआई को भी दी जाएगी. शनिवार को मेडिकल कॉलेज में जांच टीम की रिपोर्ट देने के बाद को मेडिकल काउंसिल की बैठक हुई, जिसमें इस निर्णय पर सहमति बनी।

इस बैठक में जवाहर लाल नेहरू के प्राचार्य अर्जुन कुमार सिंह ने कहा कि ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एडुकेशन व सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के मुताबिक अर्थदंड लगाया गया है। 12:30 बजे शुरू हुई बैठक लगभग एक घंटे तक चली, जिसमें रिपोर्ट पर चर्चा हुई । आखिरकार सभी ने एक साथ अर्थदंड का निर्णय सुनाया, जिसपर प्राचार्य ने मुहर लगा दी।

ज्ञात हो कि मेडिकल कॉलेज के प्रथम सेमेस्टर के छात्रों ने रजिस्ट्री पत्र द्वारा एक नवंबर को प्राचार्य को रैगिंग की शिकायत की थी। ज्ञात हो कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पिछले तीन महीने से रैगिंग चल रही थी,किन्तु इसका पता 8 नवंबर को लगा, जिसके बाद कॉलेज अस्पताल प्रशासन ने 5 दिनों में फैसला सुनाया। छह एचओडी की जांच टीम ने दो दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट प्राचार्य को दी थी,जिसके बाद ये खुलासा हुआ की 33 छात्रों को 25/25हजार दंडस्वरूप जमा करना ही होगा । ज्ञात हो कि कल इंजिनयरिंग कॉलेज के फैसले आये थे और आज जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज का । बरहाल अब देखना यह है कि रैगिंग पर इससे कितना अंकुश लग पायेगा , ये तो आनेवाला वक्त ही बताएगा ।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here