नोटबंदी व तेजस्वी के हैप्पी बर्थडे, टॉयलेट और लालू का तंत्र-मंत्र

0
14

पटना । 

बीते आठ नवंबर जहां देश की एनडीए सरकार के लिए जश्न मनाने का दिन था, तो वहीं अगले दिन नौ नवंबर लालू परिवार के लिए भी खास रहा। लालू यादव के छोटे बेटे और बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का जन्मदिन था। सोशल मीडिया पर शौचालय घोटाला से लेकर लालू के तंत्र-मंत्र वाले बयान की भी चर्चा रही।

तेजस्वी के जन्मदिन पर उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव ने खास तरीके से उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दीं तो नोटबंदी की सालगिरह पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित आम और खास लोगों ने केंद्र सरकार को नोटबंदी   की बधाई दी। सोशल मीडिया इन दोनों आयोजनों का गवाह बना और तरह-तरह के फोटो, ट्वीट और कॉमेंट्स से गुलजार रहा। नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर कुछ भाजपा नेताओं ने जहां केंद्र सरकार पर निशाना साधा और वित्तमंत्री अरुण जेटली की खिंचाई की तो तेजस्वी के जन्मदिन के ट्वीट पर भी रिट्वीट करते हुए उनका मजाक बनाया।

सोशल मीडिया पर बिहार में हुए शौचालय घोटाले की गूंज लगातार सुनाई दे रही है। ट्विटर पर इसे लेकर तीखी बयानबाजी चलती रही। ट्विटर पर टॉप ट्रेंड में टॉयलेट घोटाला शामिल रहा। इस मुद्दे पर जहां लोगों ने जमकर अपनी भड़ास निकाली, वहीं लालू यादव ने नीतीश कुमार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने ट्वीट किया कि तथाकथित चारा घोटाले में ई लोग बोलते थे, लालू चारा खा गए। अब शौचालय में वो क्या बोलेंगे, नीतीश क्या खा गए? लालू ने अपने अगले ट्वीट में लिखा बिहार को मत बनाओ घोटाला बिहार, गरीबों पर रहम करो नीतीश कुमार।
लालू ने शंकर चरण त्रिपाठी को अपनी पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता क्या बना दिया, इसे लेकर सोशल मीडिया में हंगामा मच गया। भाजपा नेताओं ने कहा कि लालू किसी भी बाबा को पार्टी में शामिल कर लें और ज्योतिषी विद्या से तंत्र-मंत्र कर लें, उनका पाप छुप नहीं सकता।

इसी बीच राजद की बैठक में पांचवीं बार रामचंद्र पूर्वे को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया और उन्होंने कह दिया कि विधानसभा चुनाव में राजद की ओर से तेजस्वी यादव सीएम के कैंडिडेट होंगे। उनके इस बयान पर लालू ने भी मुहर लगा दी, जिसके बाद राजद के बड़बोले नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि जिसको जो मन करे बोलता रहे, फैसला करने का हक केवल जनता को है और वही फैसला करेगी कि मुख्यमंत्री कौन होगा? इसका पलटवार करते हुए जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा कि लालू को तेजस्वी की जन्मपत्री ठीक से दिखा लेनी चाहिए फिर कोई एलान करना चाहिए, क्योंकि उनका भविष्य तो जांच एजेंसियां तय करेंगी।
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने नीतीश कुमार पर आरोप लगाया कि उन्होंने कुचक्र रचकर उन्‍हें मुख्यमंत्री पद से हटा दिया। उनके इस बयान का समर्थन करते हुए तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया कि जिस शख्स की पूरी राजनीति ही कुचक्र, छल, कपट, प्रपंच, षड्यंत्र, पलटी और स्वार्थ से लैस हो और जिसकी प्रवृति में ही ऐसी विकृति हो तो उससे उम्मीद भी आप क्या कर सकते हैं? उनके इस ट्वीट पर लोगों ने तेजस्वी को सलाह दी कि रोज-रोज नीतीश-नीतीश करते रहते हैं, थोड़ा कंस्ट्रक्टिव एप्रोच अपनाइए।

और अंत में…

राजगीर में देश भर के ऊर्जा मंत्रियों की बैठक का कार्यक्रम रद होने के बाद सीएम नीतीश कुमार पटना में मशहूर गायक सोनू निगम के गाने ‘सूरज हुआ मद्धम…चांद ढलने लगा…’ सुनकर मंद-मंद मुस्कुराते दिखे।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here