कलिंगा सेल्स के गोदाम से गायब हो रहे स्टॉक

0
69

भागलपुर।

सृजन घोटाले में नाम आने के बाद कलिंगा सेल्स के मालिक एनवी राजू भूमिगत हो गए हैं। शो-रूम और उसमें रखा स्टॉक जब्त ना हो जाए। इसके लिए कई शो-रुम से तेजी से स्टॉक कम हो रहे हैं। गौरतलब हो कि एसआइटी ने एनवी राजू के कई शो रूम और घर में छापेमारी की थी। कई शो-रूम के गोदाम से स्टॉक गायब हो रहे हैं। पुलिस की जांच में इस बात खुलासा हुआ है कि एनवी राजू ने भी काफी राशि सृजन संस्था से लोन के रुप में लिया है, उसे चुकता नहीं किया। इसी प्रकार कई और लोगों ने लोन के रुप में मोटी राशि लेने की बाद वापिस नहीं किया है।

मनोरमा की मृत्यु के बाद पैसा नहीं किया वापिस

एसआइटी की जांच में इस बात का पता चला है कि एनवी राजू ने सृजन से 25 लाख रुपये का लोन लिया है। इसके कागजात एसआइटी के हाथ लगे हैं। वहीं इस बात की पुष्टि वहां की अकाउंटेंट बिंदु ठाकुर ने की है। उन्होंने बताया है कि विपिन शर्मा ने सृजन से 40 लाख, कलिंगा सेल्स के मालिक एनवी राजू ने 25 लाख रुपये लिए गए थे। जो मनोरमा की मृत्यु के बाद वापिस नहीं किए गए। जांच में पता चला है कि इन लोगों के अलावा बिग शॉप के मालिक किशोर कुमार और प्रणव कुमार घोष ने भी लोन लिए हैं। जांच में जानकारी मिल है कि एनवी राजू और विपिन ने मनोरमा के मृत्यु के पास रुपया जमा ही नहीं किया।

छापेमारी में मिले कागजात की जांच कर रही सीबीआइ

एसआइटी ने 20 अगस्त को कचहरी चौक स्थित कलिंगा सेल्स में छापेमारी की थी। मगर तब तक राजू भूमिगत हो गए थे। सिटी डीएसपी शहरियार अख्तर और दारोगा रंजन कुमार की टीम ने कई घंटे की छापेमारी में उन्हें कई महत्वपूर्ण कागजात मिले थे। इसके अलावा गोदाम में करोड़ों रुपये का स्टॉक मिला था। दुकान के काउंटर में कई स्टांप पेपर और ब्लैंक चेक भी पुलिस ने बरामद किए थे। एसआइटी ने सारे कागजात सीबीआइ को सौंप दिए थे। अब मामले क जांच में सीबीआइ जुटी हुई है। मगर राजू के घर पर ताला लटका हुआ था। सूत्रों की मानें तो वहां गोदामों से स्टॉक तेजी से कम हो रहे हैं।

 

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here