रेयान स्कूल मर्डर केस: प्रद्युम्न की मां ने कहा- असली गुनहगार कोई और… कंडक्टर सिर्फ मोहरा

0
134

गुड़गांव।

गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले प्रद्युम्न की हत्या मामले में परिजनों ने सीबीआई जांच की मांग की है. उन्हें पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है. प्रद्युम्न की मां ज्योति ठाकुर ने ‘आज तक’ से बातचीत में कहा कि असली गुनहगार को बचाने के लिए बस कंडक्टर को मोहरा बनाया जा रहा है.

ज्योति ने बताया कि उनका बच्चा बस से स्कूल नहीं जाता था. बस कंडक्टर उनके बच्चे को नहीं जानता था तो फिर वो उसे क्यों मारेगा? उन्होंने आगे कहा, हो सकता है कि उनके बच्चे ने स्कूल के टॉयलेट में स्कूल से जुड़े लोगों को कुछ गलत करते हुए देख लिया हो. सच्चाई बाहर न आने पाए इसलिए उसकी हत्या कर दी गई हो.

प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर शनिवार को अपने वकील के साथ पुलिस कमिश्नर ऑफिस पहुंचे. उन्होंने स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. गुड़गांव के डीसीपी सिमरदीप सिंह ने कहा कि परिजनों की सहमति के बाद एक 10 सदस्यीय कमेटी गठित की जाएगी, जो इस केस की जांच करेगी.

View image on Twitter

वरुण ठाकुर के साथ पुलिस कमिश्नर से मिलने पहुंचे उनके वकील ने कहा कि स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई निश्चित है. इस बीच मैनेजमेंट ने मामला शांत कराने की कोशिश करते हुए स्कूल की प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया. शनिवार को गुस्साए अभिभावकों ने स्कूल के पास नेशनल हाईवे को जाम कर दिया.

इस बीच डीसीपी सिमरदीप सिंह ने स्कूल में तैनात सिक्योरिटी कंपनी के खिलाफ भी कार्रवाई की बात कही है. आरोपी अशोक को आज दो बजे कोर्ट में पेश किया जाएगा. पुलिस ने रिमांड की अर्जी दी है. साथ ही पुलिस टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ से लगातार पूछताछ कर रही है.

‘आज तक’ की तफ्तीश में स्कूल से महज चंद मीटर की दूरी पर मिली शराब की दुकान भी सवालों के घेरे में हैं. फिलहाल पुलिस केस की जांच कर रही है. स्कूल के बाहर अभिभावकों का प्रदर्शन जारी है, जिसको देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

इस मामले में हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि सरकार की इस मामले पर पूरी नजर है. वह रविवार को गुड़गांव जाएंगे और जांच टीम से मुलाकात करेंगे. उन्होंने आगे कहा, अगर इस केस में स्कूल मैनेजमेंट कुसूरवार साबित होता है तो वह दोषियों को सजा दिलाने के लिए स्कूल की मान्यता रद्द करने भी नहीं हिचकेंगे.

उन्होंने आगे कहा कि आज शाम तक केस की जांच पूरी हो जाएगी. इस विषय पर रविवार को वह गुड़गांव में एक प्रेस कॉंफ्रेंस भी करेंगे. शिक्षा मंत्री ने बच्चों की फिक्र करते हुए कहा, ‘मैं खुद एक पिता हूं. घटना के बाद से मैं भी चिंतित हूं. किसी भी सूरत में दोषी बख्शे नहीं जाएंगे.’

गौरतलब है कि रेयान स्कूल में घटित हुआ यह ऐसा पहला वाकया नहीं है. पिछले साल जनवरी में दिल्ली के वसंत कुंज स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में देवांश ककरोरा (6) की पानी की टंकी में डूबकर मौत हो गई थी. इस मामले में पुलिस ने स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ लापरवाही का केस दर्ज कर प्रिंसिपल समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया था.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here