कुणाल गुप्ता,समस्तीपुर: अनुमंडल के विघापतिनगर प्रखंड अंतर्गत मऊ बाजार स्थित पुरानी दुर्गा मंदिर परिसर में चल रहे तीन दिवसीय गायत्री महायज्ञ व संस्कार महोत्सव के आज मंगलवार दूसरे दिन विभिन्न संस्कारोत्सव का आयोजन किया गया । 

नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ में विश्व कल्याण एवं राष्ट्र व समाज के उत्थान की कामना को लेकर लोगों ने पूर्णाहुति दी । 

प्रज्ञा कथा के दौरान शांतिकुंज हरिद्धार से आए आचार्य रामबालक शास्त्री जी महाराज ने कहा कि मनुष्य को अहंकार नहीं करना चाहिए , अहंकार से पाप उत्पन्न होता है.लोगों को अहंकार दूर करने के लिए सत्संग सुनना व करना चाहिए। 

पृथ्वी पर केवल मनुष्य जीव को ही भगवान की भक्ति करने का अवसर मिलता है अत: उन्हें सुबह-शाम गायत्री मंत्रों का जाप करना चाहिए । 

उन्होंने कहा कि परमात्मा हर पल हमारे साथ रहता है.परमात्मा की अपार और अत्यंत शक्ति की अनुकम्पा हर समय हमारे साथ रहती है. उसके लिए प्रत्येक को अपने जीवन में उपासना,साधना तथा आराधना को उतारना होगा । 

मौके पर उन्होंने अपनी एक से बढकर एक भक्तिमय सुरलहरियों की प्रस्तुतियों से उपस्थित जनसमूह को भाव विभोर कर दिया .

इस अवसर पर मुख्य संयोजक विमल कुमार झा,सुरेश चौधरी, देवनंदन पंडित,देवेश कुमार दीपंकर,रानी झा,रितिक रौशन,रणधीर साह,चंदन स्वर्णकार भोला,विनोद मालाकार,कल्याणी देवी,महेंद्र साह,अर्जुन साह आदि मौजूद थे साथ ही श्रोताओ की भीड़ देखते ही बन रही थी । 

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here