न्यूज़ डेस्क:रिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग में भर्ती लालू प्रसाद का हीमोग्लोबिन काफी कम हो गया है। साथ ही उनकी किडनी का संक्रमण भी बढ़ गया है। डॉक्टर मृत्युंजय सरावगी ने बताया कि लालू का बीपी सामान्य है।

खून चढ़ाने की नहीं पड़ेगी जरूरत :* डॉक्टर सरावगी ने बताया कि हीमोग्लोबिन कम है, लेकिन उन्हें खून चढ़ाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्हें आयरन की गोली दी जा रही है। किडनी के संक्रमण को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। उनका टोटल ल्यूकोसाइट काउंट (टीएलसी) मधुमेह और हाइपरटेंशन के बढ़े रहने के कारण सीरम क्रिएटिनिन बढ़ा हुआ है। वैसे हर दिन लालू के रक्त की जांच की जाएगी।

जख्म भरने में करीब 15 दिन लगेंगे :* लालू के मल द्वार में हुए जख्म को भरने में अभी 10 से 15 दिन का समय लग सकता है। डॉक्टरों के अनुसार जख्म के सूखने के बाद इसका ऑपरेशन करवाना जरूरी है।

लालू ने दही व सत्तू खाने की जतायी इच्छा :* लालू प्रसाद ने डॉक्टरों से दही और सत्तू खाने की इच्छा जतायी। डॉक्टरों ने उन्हें दोनों चीजें खाने की सलाह दी है।

मेडिकल बोर्ड का होगा गठन :* लालू प्रसाद के इलाज को लेकर मंगलवार को मेडिकल बोर्ड का गठन हो सकता है। इसमें निदेशक सहित कार्डियोलॉजिस्ट, सर्जन व मेडिसिन के डॉक्टर होंगे।

ॉक्टरों ने लालू को वार्ड में कराया वॉक : डॉक्टरों ने सोमवार को लालू प्रसाद को वार्ड के अंदर वॉक करवाया। जिसके बाद उन्हें कोर्ट में जाने की इजाजत दी गई। डॉ सरावगी ने बताया कि लालू को चलने में कोई समस्या नहीं है, वह आराम से चल रहे हैं, वह कोर्ट जा सकते हैं। कार्डियोलॉजिस्ट डॉ प्रवीण झा ने बताया कि लालू को फिलहाल हर्ट की कोई समस्या नहीं है। रक्तचाप भी सामान्य है, उन्हें सिर्फ सर्जिकल समस्या है, जिसका इलाज चल रहा है। डॉक्टरों ने लालू के जख्म को देखते हुए लंबे समय तक नहीं बैठने की सलाह दी है। डॉक्टरों ने बताया कि अगर वे लंबे समय तक बैठेंगे तो उनके जख्म को भरने में काफी समय लग सकता है।

सुरक्षा में लगे हैं एक इंस्पेक्टर व चार एसआई: लालू की सुरक्षा घेरे को कड़ा किया गया है। इसकी जिम्मेदारी एक इंस्पेक्टर और चार सब इंस्पेक्टर के जिम्मे है। साथ ही पांच सेक्शन आर्म फोर्स और चार सेक्शन लाठी पार्टी तैनात की गई है। इसमें लालू के आगे के इलाज व उनके डिस्चार्ज को लेकर निर्णय लिया जा सकता है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here