न्यूज़ डेस्क:राजनीतिक गलियारे से आज जिला के लिए बड़ी खबर आई, जहा भाजपा के चहिते  तकालीन विधायक ने  पार्टी से अपने को अलविदा कह दिया ।

 भागलपुर के बिहपुर विधानसभा से भाजपा के  चर्चित पूर्व विधायक ई. कुमार शैलेन्द्र ने राजनीति से आज सन्यास लेने का फैसला किया है।
इसकी औपचारिक घोषणाआज करते हुए बताया कि :
 आज से मैं राजनीतिक जीवन के गतिविधि से सन्यास लेता हूँ।भारतीय जनता पार्टी के प्राथमिक सदस्यता से भी अपनी सदस्यता वापस लेता हूँ।इसके लिए 15:03:18 को अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रदेश अध्यक्ष एवम जिलाध्यक्ष जी को मेल और फैक्स कर दूंगा। लगातार 14 बर्षों से राजनीतिक जीवन में पूरी निष्ठा के साथ भारतीय जनता पार्टी के संगठन को कार्यकर्ता बनकर काम किया। कार्यकर्ताओं ने हमें बिहपुर से भाजपा का विधायक भी बनाया।।इसके लिए मैं बिहपुर की जनता,कार्यकर्ता एवम भाजपा के शीर्षस्थ नेतृत्व खासकर हमारे अभिभावक स्वरूप उपमुख्यमंत्री श्री सुशील कुमार मोदी जी का जीवन भर आभारी बना रहूंगा। लेकिन अब पारिवारिक दायित्व निभाने का समय आ गया है।यदि मैं परिवार के दायित्व का निर्वहन करने लगूंगा तो भाजपा संगठन में समय नहीं दे पाऊंगा।यदि संगठन में समय नहीं दे पाऊंगा तो संगठन के साथ बेईमानी होगी जो मैं नहीं कर सकता।

 अभी चुनाव तीन साल बाकी है तो पार्टी अपना अपने स्तर से भी संगठन मजबूत करने को सोचेगी। जाते-जाते भाजपा शीर्षस्थ नेतृत्व को मीडिया के माध्यम से अपना एक सलाह भी देना चाहता हूं कि भागलपुर के संगठन को मजबूत करना होगा क्योंकि यहां के संगठन को एक नेता जो अपने आप को कद्दावर कहते हैं तार-तार यानि कई घटक में बांट कर रख दिया है।अपने आपको राष्ट्रीय नेता कहते हैं।जिस आधार वोट पर वो भाजपा के राष्ट्रीय नेता बने हुए हैं उसका एक प्रतिशत भी ना पार्टी को और ना उन्हें खुद को वोट मिलता है। बाद बाकी राष्ट्रीय नेतृत्व को पूरी जानकारी संगठन के हित में दूंगा भागलपुर भाजपा को किस तरह गर्त में पहुंचाया है।

बात-बात पर कहते हैं 2019 के बाद चटनी की तरह पीस कर रख दूंगा,मैं खुद टिकट बांटता हूँ।अब पूरी आजादी के साथ टिकट बांटते रहिये। मैं अभी तक सिद्धांत के साथ राजनीति किया।मेरे कई शुभचिंतक मित्र कहते थे कि राजनीति और वैश्यावृत्ति एक ही सिक्के के दो पहलू है ।लेकिन मैंने अपने राजनीति जीवन को वैश्यावृत्ति होने से बचा लिया। पुनः अपने सभी देवदुर्लभ कार्यकर्ता को हृदय से आभार एवम नमस्कार करता हूँ।

यदि कभी मेरे किसी कार्यकलाप से आपको ठेस पहुंची होगी तो आप माफ कर देंगे। यहाँ की जनता जिन्होंने मुझे यहां तक पहुचाया  उसके सुख दुख में शामिल होता रहूंगा।संगठन का कोई दाईत्व नही लूंगा।किसी भी दूसरे दल में नही जाऊंगा।भाजपा को एक वोट देता रहूंगा।  कहते कहते उनकी आंखें नम हो गयी, बस आखरी शब्द कहा धन्यवाद ई. कुमार शैलेन्द्र ।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here