संजीव मिश्रा,भागलपुर: लगातर नगर निगम भागलपुर का विवाद बढ़ता चला जा रहा है । दुशरी और गंदगी का शहर में अंबार लग गया है ।

जिला परिषद अध्यक्ष व मेयर पति टुनटुन साह द्वारा नगर आयुक्त श्याम बिहारी मीणा पर सनहा दर्ज कराने के बाद मेयर सीमा साह चौतरफा घिर गई हैं।

अफसर और कर्मचारी ही नहीं, कई पार्षद भी अब मेयर के खिलाफ मुखर हो गए हैं। निशाने पर मेयर की कुर्सी भी आ गई है। कर्मियों की हड़ताल तीसरे दिन भी जारी रही। कर्मियों ने साफ कह दिया है कि अब मेयर को बदलना होगा।

उप मेयर राजेश वर्मा, पूर्व उप मेयर प्रीति शेखर सहित 25 पार्षदों ने हड़ताली कर्मचारी के नेताओं को बातचीत के लिए बुलाया।

कर्मचारी नेता आदित्य जायसवाल ने शर्त रख दी कि अगर पार्षद मेयर और उनके पति की गलती मान रहे हैं तो प्रमंडलीय आयुक्त को लिखकर दें कि ऐसे मुखिया (मेयर) के नेतृत्व में काम नहीं चल सकता।

अजय शर्मा ने कहा कि कर्मचारी कुर्सी के अधीन काम करते हैं,

पार्षद तय करें कि कुर्सी पर कौन बैठेगा। इस पर अधिकांश पार्षद मौन रहे। एक-दो पार्षदों कहा कि यह नहीं हो सकता। इसके बाद उप मेयर सहित सभी पार्षद प्रमंडलीय आयुक्त राजेश कुमार के पास पहुंच गए। उन्होंने आश्वस्त किया कि दोषियों पर कार्रवाई हो

मेयर सीमा साह ने कहा कि

मैं नगर निगम नहीं गई थी। इसलिए किसने क्या कहा इस पर कुछ टिप्पणी नहीं करुंगी। नगर आयुक्त आएंगे कल तो बातचीत कर हड़ताल तुड़वाने की कोशिश करुंगी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here