न्यूज़ डेस्क: लगातर भागलपुर जिला इस वक्त चर्चा में बना हुआ है।

नाथनगर तनाव के बाद पुलिस के दो एफआईआर दर्ज करते ही शहर छोड़ चुके मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत को भागलपुर पुलिस ढूंढ़ रही है, जबकि वे रविवार को पटना में रामनवमी की शोभायात्रा में घूमते नजर आए। इस दौरान सत्ताधारी दल के दीघा के विधायक संजीव चौरिसया समेत अन्य कार्यकर्ताओं भी उनके साथ थे।उनके हाथ में तलवार भी थी। उनकी तस्वीर और वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुई है।

शनिवार को भागलपुर की अदालत से अर्जित समेत 9 के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ है। पटना में रविवार को एडीजी मुख्यालय संजीव कुमार सिंघल ने बताया कि नाथनगर मामले में दो केस दर्ज हुए हैं। एक केस में वारंट जारी हो चुका है। अब दूसरे केस में भी अदालत से आरोपियों की गिरफ्तारी वारंट लेने में पुलिस जुटी है।

आज वारंट मिलने की पूरी संभावना है । इसके बाद कानूनी कार्रवाई तेज हो जाएगा । सबसे बड़ा सवाल अगर गिरफ्तारी वारंट जारी हो चुका है तो स्थानीय भागलपुर जिला पुलिस क्या कर रही है? क्या कोई दवाब में है स्थानीय पुलिस?अब ये तो आनेवाला वक्त ही बतायेगा ।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here