न्यूज़ डेस्क : अभी अभी बिहार के मोतिहारी जिले से एक बड़ी खबर आ रहीं है । जिसने सबको सकते में डाल दिया है । पूर्वी चंपारण जिले के अरेराज में तैनात एक कृषि सहायक मैनेजर ने आज फंदे से लटक कर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। यह घटना अरेराज प्रखंड परिसर स्थित कृषि विभाग के पुराने कार्यालय की है। फंदा लगाकर अपना जान देने वाला कृषि सहायक मैनेजर 30 वर्षीय राहुल सिंह पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिला अन्तर्गत सिकरारा थाना क्षेत्र के रामनगर ऋषि गांव का रहने वाला बताया जाता है। घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गयी। पुलिस ने मृतक के पास से एक मोबाइल,  ढाई सौ रुपये नगद, एक खैनी का डिब्बा व कुछ कागजात बरामद किया है। हालांकि युवक ने कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है। मिली जानकारी के अनुसार वह रात में सोमेश्वरनाथ महादेव मंदिर के कमरे में रहता था। प्रतिदिन की भांति वह मंदिर से प्रखंड परिसर स्थित अपने कार्यालय के पास आया। सुबह के नौ बजे तक वह बीएओ, बीपीआरओ व मनरेगा के जेई के साथ रहा। उसके बाद वह वहां से निकल गया। राहुल रात का भोजन मंदिर में एवं सुबह का भोजन बीएओ के यहां करता था। आज सुबह का भोजन करने के लिए जब बीएओ राजबिहारी ने उसके मोबाइल पर फोन किया तो उसका फोन बंद मिला। बीएओ ने पुराने कार्यालय जाकर उसकी तलाश की। कार्यालय का मुख्य द्वार बंद था। बीएओ ने कुछ देर तक आवाज भी लगायी। परन्तु अंदर से कोई आवाज नहीं आयी। उसके बाद बीएओ ने खिड़की से झांक कर  देखा की राहुल का शव लटका हुआ था। बीएओ ने इसकी सूचना तुरन्त पुलिस को दी। सूचना पाकर इंस्पेक्टर अरविन्द कुमार एवं अरेराज ओपीध्यक्ष अशोक कुमार ने कार्यालय पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले लिया। घटना की सूचना राहुल के परिजनों को भी दी गयी। राहुल ने अपने मॉफलर का उपयोग फंदा बनाने में किया था। समाचार लिखे जाने तक आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। पुलिस अब उन कारणों का पता लगाने में जुटी है कि आखिर राहुल ने आत्महत्या क्यूं की।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here