न्यूज़ डेस्क,  भगवान बुद्ध के विचार मानव मात्र के लिए कल्याणकारी हैं। बुद्ध के विचारों को आत्मसात कर प्रत्येक मानव अपने जीवन को सफल बना सकता है। उक्त विचार विश्व प्रसिद्ध केसरिया बौद्ध स्तूप पर पहुंचे थाइलैंड के बौद्ध धर्मावलंबी पदयात्रियों के नेतृत्वकर्ता अचान पावत ने व्यक्त किए। इससे पहले पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से पदयात्रा कर यहां पहुंचे थाइलैंड के पदयात्रियों ने केसरिया बौद्ध स्तूप की पूजा-अर्चना एवं परिक्रमा की। अचान पावत ने केसरिया स्तूप को भगवान बुद्ध से जुड़ा जीवंत साक्ष्य बतलाया। डेली बिहार न्यूज द्वारा पदयात्रा के उद्देश्यों के बारे में पुछे जाने पर उन्होंने बताया कि उन लोगों की यह पदयात्रा विश्व कल्याण एवं बौद्ध धर्म के प्रचार-प्रसार को लेकर शुरू हुई है। उन्होंने बताया कि आज से एक पखवारा पहले कोलकाता से शुरु हुई हमारी यह पदयात्रा भारत में तीन माह तक चलेगी। सभी पदयात्री उसी मार्ग से होकर चल रहे हैं जिस रास्ते से होकर भगवान बुद्ध गुजरे थे। थाइलैंड के इन पदयात्रियों के दल में कुल 170 बौद्ध धर्मावलंबी शामिल हैं। सभी पदयात्री केसरिया से नंदनगढ़, लुंबनी और कुशीनगर होते हुए सारनाथ तक जायेंगे। अपने प्रत्येक ठहराव स्थल पर ये सभी पदयात्री भगवान बुद्ध के विचारों का उदघोष भी कर रहे हैं। थाइलैंड के इन पदयात्रियों की सुरक्षा को लेकर केसरिया थाने की पुलिस काफी चौकसी बरत रही है। केसरिया के थानाध्यक्ष संजीव कुमार एवं दारोगा अवधेश कुमार सिंह सशस्त्र बल के साथ पदयात्रियों की सुरक्षा में लगे हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here